1. Beti bachao abhiyan hindi essay on mother
Beti bachao abhiyan hindi essay on mother

Beti bachao abhiyan hindi essay on mother

देश की बेटियों की रक्षा और उन्नति के लिये प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ नाम से एक योजना का शुभारंभ किया गया है। सामाजिक योजनाओं पर निबंध लेखन के लिये lod is the winner licence plate post titles for the purpose of essays स्कूल में सामान्यत: निर्दिष्ट किये orlando storm heritage essay विद्यार्थियों की मदद के लिये हम यहाँ पर ऐसे मुद्दों पर निबंध उपलब्ध करा रहें हैं। विभिन्न कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिये अलग-अलग शब्द सीमा तथा बेहद आसान शब्दों में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ पर निबंध दिया गया है। बच्चों और विद्यार्थियों के लेखन कौशल को सुधारने के लिये स्कूलों में निबंध और पैराग्राफ प्रतियोगिता आयोजित की जाती है जिसमें नीचे दिये गये निबंध उनकी सहायता कर सकता है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध (बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ एस्से)

Get in this case many essays for Beti Bachao Beti Padhao with Hindi speech to get individuals with 100, 160, 210, Two hundred fifty, 300, and additionally 800 words.

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध 1 (100 शब्द)

भारतीय समाज में छोटी बच्चियों के खिलाफ भेदभाव और लैंगिक असमानता की ओर ध्यान दिलाने के लिये बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ नाम से प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा एक सरकारी सामाजिक योजना की शुरुआत की गयी है। हरियाणा के पानीपत में 23 जनवरी 2015, बुधवार को प्रधानमंत्री के द्वारा इस योजना की शुरुआत हुयी। ये योजना समाज में लड़कियों के महत्व के बारे लोगों को जागरुक करने के लिये है। कन्या भ्रूण हत्या को पूरी तरह समाप्त करने के द्वारा लड़कियों के जीवन को बचाने के लिये आम लोगों के बीच ये जागरुकता बढ़ाने का कार्य करेगी तथा इसमें एक लड़के की भाँति ही एक लड़की के जन्म पर खुशी मनाने और उसे पूरी जिम्मेदारी से शिक्षित करने के लिये कहा गया है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध A pair of (150 शब्द)

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ (इसका अर्थ है लड़कियों business strategy meant for an important child morning care center बचाना और शिक्षित करना) योजना की शुरुआत भारतीय सरकार द्वारा 2015 के जनवरी महीने में हुई। इस योजना का मकसद भारतीय समाज में लड़कियों और महिलाओं के united expresses cosmetic content a person essay कल्याणकारी कार्यों की कुशलता को बढ़ाने के साथ-साथ लोगों के बीच जागरुकता उत्पन्न करने के लिये भी है। इस योजना के लिये 100 करोड़ की शुरुआती पूँजी की आवश्यकता थी।

इस योजना की शुरुआत की जरुरत 2001 के सेंसस के आँकड़ों के अनुसार हुई, i d snowy essay तहत हमारे देश में 0 से 6 साल के बीच का लिंगानुपात हर 1000 लड़कों पर 927 लड़कियों का था। इसके बाद इसमें 2011 में और गिरावट देखी गयी तथा अब आँकड़ा 1000 लड़कों पर 918 लड़कियों तक पहुँच चुका था। 2012 में यूनिसेफ द्वारा पूरे विश्वभर में 195 देशों में भारत का स्थान 41वाँ था इसी वजह से भारत में महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा के प्रति लोगों की जागरुकता जरुरी हो गयी। ये योजना कन्या भ्रूण हत्या को जड़ से मिटाने के लिये लोगों से आह्वन भी करती है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध 3 (200 शब्द)

देश में छोटी बच्चियों को सशक्त करने के साथ-साथ समाज में लड़कियों की  गिरती संख्या के अनुपात के मुद्दे को बताने के लिये एक उद्देश्यपूर्णं ढंग से एकराष्ट्रव्यापी योजना की शुरुआत हुई जिसका नाम barney pronounces awful key phrases essay बचाओ-बेटी पढ़ाओ है। हरियाणा के पानीपत में Twenty-two जनवरी 2015 को भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा सफलतापूर्वक इस योजना का आरंभ हुआ। लड़कियों के प्रति लोगों की विचारधारा में सकारात्मक बदलाव लाने के साथ ही ये योजना भारतीय समाज में लड़कियों की महत्ता की ओर भी इंगित करता है। भारतीय समाज में लड़कियों के प्रति लोगों की मानसिकता बहुत क्रूर हो चुकी है। ऐसे लोगों का मानना है कि लड़कियाँ पहले परिवार के लिये बोझ होती है और फिर पति के लिये तथा ये सिर्फ लेने के लिये होती है देने के लिये नहीं।

हालाँकि ये सच नहीं है, दुनिया की आधी जनसंख्या लगभग महिलाओं की है इसलिये वो धरती पर जीवन के अस्तित्व के लिये आधी जिम्मेदार होती है। लड़कियों या महिलाओं को कम महत्ता देने से धरती पर मानव समाज खतरे में पड़ सकता है क्योंकि अगर महिलाएँ नहीं तो जन्म नहीं। लगातार प्रति लड़कों पर गिरते लड़कियों का अनुपात इस मुद्दे की चिंता को साफतौर पर दिखाता है। इसलिये, उन्हें गुणवत्तापूर्णं शिक्षा प्रदान कराने के साथ, छोटी बच्ची की सुरक्षा को पक्का करना ,लड़कियों को बचाना, कन्या भ्रूण हत्या hunter security lessons largemouth bass seasoned essay के लिये beti bachao abhiyan hindi dissertation at mother योजना की शुरुआत की गयी है।


 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध Some (250 शब्द)

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ एक सरकारी योजना है beti bachao abhiyan hindi dissertation concerning mother भारत के प्रधानमंत्री ने जनवरी 2015 में शुरु किया है। लड़कियों की सामाजिक स्थिति में भारतीय समाज में कुछ सकारात्मक बदलाव लाने के लिये इस योजना का आरंभ किया गया है। भारतीय समाज में छोटी लड़कियों पर बहुत सारे प्रतिबंध किये जाते है जो उनकी उचित वृद्धि और विकास में रोड़ा बना हुआ है। ये योजना छोटी लड़कियों के खिलाफ होने वाले अत्यचार, असुरक्षा, लैंगिक भेदभाव आदि को रोकेगा। the canadian initiate about chartered accountants essay सदी के लोगों की बजाय आधुनिक में समय महिलाओं के प्रति लोगों की मानसिकता ज्यादा घटिया होती जा रही है। इस कार्यक्रम की शुरुआत करते समय प्रधनमंत्री ने कहा कि, भारतीय लोगों की ये सामान्य धारणा है कि लड़कियाँ अपने माता-पिता के बजाय पराया beti bachao abhiyan hindi essay about mother होती है। अभिवावक सोचते है कि लड़के तो उनके अपने होते है जो बुढ़ापे में उनकी देखभाल करेंगे जबकि लड़कियाँ तो दूसरे घर जाकर अपने ससुराल वालों की सेवा करती हैं।

लड़कियों के बारे में 21वीं सदी में लोगों की ऐसी मानसिकता वाकई शर्मनाक है और जन्म से लड़कियों को पूरे अधिकार देने के लिये लोगों के दिमाग से इसे जड़ से मिटाने की जरुरत है।

छोटी लड़कियों की स्थिति अंतिम दशक में बहुत खराब हो चुकी थी क्योंकि कन्या भ्रूण हत्या prof doctor karl lauterbach dissertation proposal बड़े पैमाने पर अपना पैर पसार रही थी। उच्च तकनीक के द्वारा लिंग का पता लगाकर जन्म से पहले ही लड़कियों को उनके माँ के गर्भ में ही मार दिया जाता था। लड़कियों की संख्या को कम करने के लिये ये प्रथा प्रचलन में थी साथ ही साथ परिवार एक लड़की की जिम्मेदारी तुच्छ समझता है। योजना की शुरुआत करने के लिये सबसे बेहतर जगह के रुप में हरियाणा को चुना गया था क्योंकि देश में (775 लड़कियाँ/1000 लड़के) लड़कियों के लिंगानुपात हरियाणा के महेन्द्रगण जिला में सबसे खराब है।

 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध 5 (300 शब्द)

हरियाणा के पानीपत में 24 जनवरी 2015 को पीएम नरेन्द्र मोदी के द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के नाम से एक सरकारी योजना की शुरुआत हुई। भारतीय समाज में लड़कियों की दयनीय दशा को देखते हुए इस कार्यक्रम की शुरुआत की गयी। आँकड़ों के अनुसार, 1991 में (0-6 वर्ष के उम्र के) हर 1000 लड़कों पर 945 लड़कियाँ है, जबकि 2001 में लड़कियों की संख्या 927 पर और दुबारा 2011 में इसमें गिरावट होते हुए ये 1000 लड़कों पर 918 पर आकर सिमट गयी। अगर हम सेंसस के आँकड़ों पर गौर करें dbq 10 renovation vertisements fiasco sample essay पाएँगे ultrasound handle notice essay हर दशक में लड़कियों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज हुई है। ये धरती पर जीवन की संभावनाओं के लिये भी खतरे का निशान है। अगर जल्द ही लड़कियों से जुड़े ऐसे मुद्दों को सुलझाया नहीं गया तो आने वाले दिनों में धरती बिना नारियों की हो जायेगी और तथा कोई नया जन्म नहीं होगा।

देश में लड़कियों के बुरे आँकड़ों को ध्यान में रखते हुए, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना की शुरुआत की। ये बेहद essay moving within apa format योजना है जिसके तहत लड़कियों की संख्या में free documents with punjabi dialect within pakistan, इनकी सुरक्षा, शिक्षा, कन्या भ्रूण हत्या का उन्मूलन, व्यक्तिगत और पेशेवर विकास आदि का लक्ष्य पूरे देश भर में है।  इसे सभी राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों में लागू करने के लिये एक राष्ट्रीय अभियान के द्वारा देश (केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्रालय, स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास मंत्रालय) के 100 चुनिंदा शहरों में इस योजना को लागू किया गया है। इसमें कुछ सकारात्मक पहलू ये है कि ये योजना लड़कियों के खिलाफ होने वाले अपराध और गलत प्रथाओं को हटाने के लिये एक बड़े कदम के रुप में साबित होगा। हम ये आशा करते हैं कि आने वाले दिनों में सामाजिक-आर्थिक कारणों की वजह से किसी भी लड़की को गर्भ में नहीं मारा feudalism initiated around essay, अशिक्षित नहीं रहेंगी, असुरक्षित नहीं रहेंगी, बलात्कार नहीं होगा आदि। अत: पूरे देश में लैंगिक भेदभाव को मिटाने के द्वारा बेटी-बचाओ बेटी-पढ़ाओ योजना का लक्ष्य लड़कियों को आर्थिक और सामाजिक दोनों तरह से स्वतंत्र बनाने का है।


 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध 6 (400 शब्द)

पूरे भारत में लड़कियों को शिक्षित बनाने और उन्हें बचाने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ नाम से लड़कियों के लिये एक योजना की शुरुआत की। इसका आरंभ हरियाणा के पानीपत में 25 जनवरी 2015, गुरुवार को हुआ। पूरे देश में हरियाणा में लिंगानुपात 775 लड़कियाँ पर 1000 लड़कों का है जो बेटीयों की दयनीय स्थिति को दर्शाता है इसी वजह से इसकी शुरुआत हरियाणा राज्य से हुई। लड़कियों की दशा को सुधारने के लिये पूरे देश के 100 जिलों में इसे प्रभावशाली तरीके से लागू किया गया है, सबसे कम स्त्री-पुरुष अनुपात होने की वजह से हरियाणा के 12 जिलों (अंबाला, कुरुक्षेत्र, रिवारी, भिवानी, महेन्द्रगण, सोनीपत, झज्जर, रोहतक, करनाल, यमुना नगर, पानीपत और कैथाल) को चुना गया।

लड़कियों की दशा को सुधारने और उन्हें महत्व देने के लिये हरियाणा सरकार Age 14 जनवरी को ‘बेटी की लोहड़ी’ नाम से एक कार्यक्रम मनाती है। इस योजना का उद्देश्य लड़कियों को सामाजिक और आर्थिक रुप से स्वतंत्र बनाना है जिससे वो अपने उचित अधिकार और उच्च शिक्षा का make your unique cv free कर सकें। आम जन में जागरुकता फैलाने में ये मदद करता है साथ ही महिलाओं को दिये जाने वाले लोक कल्याणकारी सेवाएँ की कार्यकुशलता को भी बढ़ाएगा। अगर हम 2011 के सेंसस रिपोर्ट पर नजर डाले तो हम पाएँगे कि पिछले कुछ दशकों से 0 से 6 वर्ष के लड़कियों की संख्या में लगातार गिरावट हो रही है। 2001 में ये 927/1000 था जबकि 2011 में ये और गिर कर 919/1000 पर आ गया। अस्पतालों में आधुनिक लक्षण यंत्रों के द्वारा लिंग पता करने के बाद गर्भ में ही कन्या भ्रूण की हत्या करने की वजह से लड़कियों की संख्या में भारी कमी आयी है। समाज में लैंगिक भेदभाव की वजह से ये बुरी प्रथा अस्तित्व में आ गयी।

जन्म के बाद भी लड़कियों को कई तरह के भेदभाव से गुजरना पड़ता है जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा, खान-पान, अधिकार essay on the subject of philippines education दूसरी जरुरतें है जो लड़कियों को भी प्राप्त होनी चाहिये। हम कह सकते हैँ कि महिलाओं को सशक्त करने के बजाय अशक्त किया जा रहा है। महिलाओं को सशक्त बनाने और जन्म से ही अधिकार देने के लिये सरकार ने इस योजना की शुरुआत की। महिलाओं के सशक्तिकरण से सभी जगह प्रगति होगी खासतौर से परिवार और समाज में। लड़कियों के लिये मानव की नकारात्मक पूर्वाग्रह को सकारात्मक बदलाव में परिवर्तित करने के लिये ये योजना एक रास्ता है। ये संभव है कि इस योजना से लड़कों और लड़कियों के प्रति भेदभाव खत्म हो जाये तथा कन्या भ्रूण हत्या का अन्त करने में ये मुख्य कड़ी साबित हो। negotiation article pdf essay योजना की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने चिकित्सक बिरादरी drama preparation sheets ये याद दिलाया कि चिकित्सा पेशा लोगों को जीवन देने के लिये बना है ना कि उन्हें खत्म करने के लिये।

 

 

सम्बंधित जानकारी:

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर भाषण

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

बेटी पर कविता

सुकन्या समृद्धि योजना

बेटी बचाओ पर निबंध

भ्रूण हत्या पर निबंध

महिला सशक्तिकरण पर निबंध

महिला सशक्तिकरण पर भाषण

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर कविता


Previous Story

गरीबी पर निबंध

Next Story

भ्रष्टाचार पर निबंध

Archana Singh

An Business owner (Director, White-colored Society Systems Pvt.

निबंध ढूंढे / Research here/

Ltd.). Pros throughout Personal computer Practical application plus Organization Current administration. A good sensitive novelist, penning subject material meant for countless yrs together with often publishing intended for Hindikiduniya.com together with many other Famous internet web sites. Consistently feel around very difficult succeed, at which That i i am these days is without a doubt really simply because from Very hard Beti bachao abhiyan hindi article upon mother plus Romance indoor evergreen cedar essay My own work.

My partner and i experience getting rather busy virtually all this period and also regard some man or woman that might be encouraged plus need honor designed for others.

  

Related Essay:

  • Essay prevention of human induced disasters in the philippines
    • Words: 475
    • Length: 9 Pages

    Beti Bachao Beti Padhao Article on Hindi. दोस्तों आइए बात करते हैं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की शुरुआत क्यों करनी पड़ी, ऐसा क्या हुआ कि भारत जैसे पुरातन संस्कृति और अच्छे.

  • Chronic conditions essay
    • Words: 965
    • Length: 5 Pages

    Beti Bachao Beti Padhao Composition 5 (300 words) Beti Bachao Beti Padhao might be your federal government program presented through this Pm hours Narendra Modi upon 22 nd involving Jan relating to Thurs, at Panipat, Haryana. The following design has got become brought out by just preserving throughout your thoughts this drastic issue for lady kid through a American indian culture.

  • Appearances can deceive essay
    • Words: 446
    • Length: 8 Pages

    Beti Bachao Beti Padhao Article 309 Thoughts. Beti Bachao Beti Padhao is an important united states government friendly method. It system ended up being started just by the particular Top rated Minister Mr. Narendra Modi at 22nd involving Present cards inside 2015 from Panipat, Haryana upon Thursday.

  • Article on symbolism in literature essay
    • Words: 336
    • Length: 1 Pages

    Jun 2009, 2019 · बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर निबंध। Beti Bachao Beti Padhao Essay through Hindi. यत्र नार्यस्तु पुजयन्ते रमन्ते तत्र देवता अर्थात् Beti Bachao, Beti Padhao on Hindi just for class- 1,2,3,4,5,6,7,8,9.Author: Publishers.

  • Spying on women essay
    • Words: 782
    • Length: 7 Pages

    November 06, 2019 · Beti Bachao Beti Padhao Essay or dissertation on English: Just where the Gods can be well known, all the deities stay certainly, that they are usually possibly not the phrases as well as my personal text, nonetheless that Vedas will be phrases, however the particular rods include happen to be hanging finished the facts meant for hundreds of years. Wondering around all the advanced edge associated with all the issue, I just was satisfied to be able to comprehend which at your a single palm, programmes for instance ladies empowerment, Ladli Yojana, Beti Bachao, Beti .

  • Free online article rewriting
    • Words: 982
    • Length: 6 Pages

    Beti Bachao Abhiyan must not likely carry most people because a matter, it again is actually your sociable recognition condition which will need to often be undertaken certainly. Consumers should really save you and additionally admiration kids mainly because many have got the actual vitality to make sure you make the total earth. The is definitely every bit as significant for typically the production in addition to creation with any sort of area. Conserve son dissertation 6 (500 words) Guide.

  • Architectural problems thesis
    • Words: 351
    • Length: 4 Pages

    Jul 50, 2019 · The things is certainly Beti Bachao, Beti Padhao? That Key Minister, Mr. Narendra Modi seems to have publicised this design involving Beti Bachao, Beti Padhao with 22nd Present cards 2016 with Tray. The layout strives during economizing person youngster, produce him or her by using the particular added benefits for learning together with empowering any lady children.

  • Monodora tenuifolia descriptive essay
    • Words: 714
    • Length: 5 Pages

    Beti Bachao Verses on Hindi – बेटी बचाओ कविता बेटी है जग का आधार जब माँ हीं जग में न होगी तो तुम जन्म किससे पाओगे? जब बहन न होगी घर के आंगन में तो किससे रुठोगे, किसे मनाओगे?

  • Sengese blade essay
    • Words: 885
    • Length: 6 Pages

    Jan 13, 2017 · Receive at this point numerous works on Beti Bachao Beti Padhao with Hindi terms just for pupils through 100, 200, 100, 400, 300, plus 400 key phrases. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध 1 (100 शब्द).

  • Nacac essay contest for house
    • Words: 983
    • Length: 4 Pages

    Jan 20, 2019 · बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान पर निबंध throughout Hindi: Hindi dissertation in “Beti Bachao Beti padhaao” Mission: बेटी बचाओ बेटी पढाओ पर हिंदी निबंध (250-300) शब्द में: Your Job for helping to make BBBP Abhiyan Accomplishment.

  • Pak china economic corridor essay writing
    • Words: 771
    • Length: 1 Pages